आईये जानते हैं गर्दन में दर्द के लक्षण, कारण व इसकी रोकथाम के उपचार

29
Neck pain Symptoms causes and prevention
Neck pain Symptoms causes and prevention

गर्दन का दर्द कभी-कभी गंभीर परेशानियों का कारण बन जाता है। जिससे निजात पाने के लिए लोग कई तरह के इलाज, एक्सरसाइज करते है। गर्दन कि समस्या किसी को भी हो सकती है इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए उचित मार्गदर्शन लें।

आमतौर पर कम्प्यूटर के सामने घंटो बैठे रहने से यह समस्या होती है इसके साथ मोबाइल का इस्तेमाल भी इस समस्या को जन्म देता है।

इतना ही नहीं कुछ लोग ऐसे भी होते है जो अपने मोबाइल को कान और कंधे के बीच फंसा कर काफी देर कर बात करते रहते हैं जोकि तेज दर्द का कारण बनता है।

गर्दन में लगातार दर्द होने पर इसका उचित इलाज करवाएं, नहीं तो यह दर्द आगे जाकर सर्विकल का कारण भी बन सकता है। इस बात का खास ध्यान रखें कि जब भी गले में दर्द हो तो तुरंत इसका इलाज करवाना चहिये।

लक्षण – Symptoms

  • गर्दन में दर्द होना।
  • गर्दन अकड़ जाना।
  • हाथों और पैरों में चुभता हुआ दर्द।
  • हिलाने-डुलाने में परेशानी होना।
  • चक्कर आना।
  • सुन्न महसूस होना।
  • हाथ-पैरों में कमजोरी लगना।
  • सिर के पिछले भाग और कंधों में दर्द।
  • गर्दन में गांठ होना भी गर्दन में दर्द का संकेत हो सकता है ।

गर्दन दर्द के अन्य कारण – Reason

चोट और एक्सीडेंट – Injury and accident

कई बार दुर्घटना के कारण गर्दन में चोट लगने से गर्दन सामान्य नहीं रहती जिस कारण मासपेशियां धीरे-धीरे सिकुड़ जाती है जो कि बाद में दर्द का कारण बनता है। कई बार तो ठीक होने में सालों भी लग जाते है।

Neck_pain
Symptoms, causes and prevention of neck pain

उम्र – Age

ऑस्टियोआर्थराइटिस स्पाइनल स्टेनोसिस और डिजेनेरेटिव डिस्क ऐसी बीमारियां हैं जो उम्र के साथ बढ़ती है और जो रीढ़ की हड्डी पर ज्यादा सबसे ज्यादा प्रभाव डालती है ।

अन्य कारण – Other reason

अगर बैठने का तरीका ठीक नहीं है तो रीढ़ की हड्डी का संतुलन खराब हो सकता है पेट की मांसपेशियों में कमी और मोटापे के कारण भी रीढ़ की हड्डी कमज़ोर हो जाती है।

घंटो फोन पर गर्दन की गलत पोजिशन रखने से भी रीढ़ की हड्डी को नुकसान पंहुचता है।

गर्दन दर्द के लिए घरेलू उपाय – Home Remedies For Neck Pain In Hindi

लौंग के तेल से उपाय – Remedy with clove oil

एक चम्मच सरसों का तेल लेकर उसमे 5 -7 लौंग की बूंदे मिलाकर, हल्का गुनगुना करने के लिए रेख दें। हल्का गुनगुना होने के बाद दर्द बाले स्थान की मालिश करने पर शीघ्र ही दर्द काम हो जायेगा।

आइस पैक – Ice pack

गर्दन में दर्द होने पर आइस पैक लगाने से गर्दन के दर्द में काफी रहत मिलती है। इस बात का विशेष ध्यान रखें कि आइस पैक का प्रयोग गर्दन के दर्द के लिए 5 मिनट्स से ज्यादा न करें

सेब का सिरका – Apple vinegar

एक कप गर्म पानी करके उसमें एक चम्मच नमक और एक चम्मच सेब का सिरका मिलाकर अच्छी तरह पका लें, गर्दन में इस मिश्रण की मालिश करने से इंफेक्शन में काफी राहत मिलेगी।

मेथी – Fenugreek

पानी में मेथी के दानों को अच्छे से पीसकर इसका लेप बनाये प्रतिदिन गर्दन पर दो से तीन बार प्रयोग करने से गर्दन के दर्द में बहुत लाभ मिलता है।

अदरक का पेस्ट – Ginger paste

अदरक को छील कर छोटे टुकड़ों में काटें और मिक्सी में डालकर बारीक पीस लें, फिर बारीक पिसे हुए अदरक को अच्छे से गर्म कर ले। जब यह ठंडा हो जाये तो इसमें थोड़ा सा नमक भी मिला लें।

सिकाई करना – Formentation

शरीर के अन्य अंगों के साथ-साथ गर्दन के दर्द के लिए भी सिकाई करना बेहतर साबित हो सकता है।

गर्दन को धीरे-धीरे हिलाना – Slow neck

गर्दन में दर्द होने पर गर्दन को हिलाना भी मुश्किल हो जाता है। ऐसी स्थिति में गर्दन को धीरे-धीरे हिलाएं। जिससे गर्दन के दर्द में राहत मिलेगी।