Hamta_Pass_Trek

हम्पटा पास ट्रेक कुल्लू में स्तिथ लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थान

हम्पटा पास ट्रेक हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू में स्तिथ एक बहुत ही रोमांचित और खूबूसरत पर्टयक स्थान है। यह ट्रेक हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में स्तिथ है, इस ट्रेक को आम तौर पूरा करने में 4 दिन का समय लगता है।

यह एक साहसिक और चुनौतीपूर्ण ट्रेक है। जिस की यात्रा करने के लिए देश विदेश से पर्टयक यहां घूमने और समय व्यतीत करने के लिए आते है। हिमाचल प्रदेश सबसे ज्यादा पर्टयकों द्वारा घूमे जाने वाले स्थानों में से एक है।

हर साल भारी मात्रा में सैलानी यहां घूमने और समय व्यतीत करने के लिए आते है। हिमाचल प्रदेश में तक़रीबन 200 ट्रेकिंग साइड्स है। जो ऊंचे-ऊँचे पहाड़ो के बिच में और कई ट्रेक नदियों के साथ साथ चलते है।

हिमाचल प्रदेश में स्तिथ अधिकतम ट्रेको में बर्फ की चादर पड़ी रहती है। इन ट्रेको का दृश्य बहुत ही रोमांचित ट्रेको में से एक है।

प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर

यहां का खूबूसरत नजारा और यहां का प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर नजारा आप को बहुत ही रोमांचित करता है। हिमाचल प्रदेश अपने शांत वातावरण के लिए दुनिया भर में लोकप्रिय माना जाता है।

यहां की प्रकृति का सौंदर्य यहां आये सैलानियों की आत्मा को बेहद सकून और शांति प्रदान करता है। हिमाचल प्रदेश 02 शब्दों के मेल से बना है।

हिम का अर्थ है बर्फ और आँचल का अर्थ पहाड़ यह ट्रेक हिमाचल प्रदेश में स्तिथ यह सबसे लोकप्रिय ट्रेको में से एक है।

ग्लेशीयर हरे भरे घास के मैदान यहां की शोभा को और अधिक बढ़ा देते

हम्पटा पास ट्रेक की ऊंचाई सुंन्दरतल से केवल 14,100 फिट है। इस ट्रेक की लम्बाई 27 किलोमीटर है। यह ट्रेक हिमाचल प्रदेश में स्तिथ अधिक दुरी वाले ट्रेको में से एक माना जाता है।

इस ट्रेक को हिमाचल प्रदेश के आसान और सुविधाजनक ट्रेको में एक जाना जाता है। यह ट्रेक जंगल ग्लेशीयर हरे भरे घास के मैदान यहां की शोभा को और अधिक बढ़ा देते है।

यहां का प्राकृतिक सौंदर्य यहां की सुंदरता को बहुत ही बड़ा देता है।

मनमोहक दृश्य और झरने आप को मनमोहित कर देंगे

इस ट्रेक में बहुत से मनमोहक दृश्य और झरने आप को मनमोहित कर देंगे। हिमाचल प्रदेश का यह ट्रेक अपने सरकरे रास्ते और अपने सौंदर्य के लिए हिमाचल प्रदेश में ही नहीं पुरे भारत में लोकप्रिय और प्रसिद्ध माना जाता है।

हर साल बहुत से पर्टयक इस ट्रेक की यात्रा के लिए आते है।

इस ट्रेक की यात्रा करने का सही समय

हिमाचल प्रदेश में यह ट्रेक एक सुविधा जनक और बेहद ट्रेक है। परन्तु आप पहाड़ो की सैर के लिए जा रे हो। इस लिए जाने से पहले आप को बहुत सी महत्वपूर्ण बातो की जानकारी होने चाहिए।

इस लिए आप को यहां आने से पहले यहां आने का समय और अन्य जानकारी होनी चाहिए। जानकारी आप के ट्रेक को बेहतर और यादगार बना देती है। इस ट्रेक में आने का सही समय जून और अगस्त होते हैं।

जिस दौरान यहां बर्फ थोड़ी में कमी होती है। इस रास्तो को पहले चरवाहे खोलते है, उस के बाद ही ट्रेक शुरू होते है भुंतर से मनाली की दुरी 53 किलोमीटर की है। जहा से आप का यह ट्रेक सुरु होगा।

रोमांचित जोबरा से ट्रेक वॉक द्वारा यहां पहुंच सकते

इस ट्रेक का निकटतम स्टेशन मनाली है। मनाली अपने आप में एक बहुत ही खूबूसरत पर्टयक स्थान है। इसलिए ट्रेकिंग मनाली से चीका और जोबरा के लिए शुरू होती है।

आप यहां बहुत से प्राकृतिक दृश्यों को देख सकते है। जो आप को बहुत ही रोमांचित जोबरा से ट्रेक वॉक द्वारा चलाया जाता है। इस मार्ग में पहले दिन बालू का घेरा शामिल है। यहां दूसरे दिन पहुंचा जाता है।

आप इस दिन अद्भुत शिलाखंडों, जेंडर और रानी नाले को पार करेंगे। इसके बाद आप तीसरे दिन हम्पा दर्रा से बालू का घेरा से शिया गोरू तक का है।

कॉर्निस का निर्माण और रास्ते भर सांप छछूंदर आ जाएंगे जिन का दृश्य आप को मनमोहित कर देगा। इस स्थान की अधिकतम ऊँचाई 14, 100 फीट है।

ट्रेकिंग और कैंपिंग के लिए लोकप्रिय प्रसिद्ध पर्टयक स्थान

जानकारी के अनुसार दिन चौथा शिया गोरू से शुरू होगा और चतरू में समाप्त होगा। इसी के साथ इस दिन एक स्थिर वंश है। पर्टयक लाहुल और स्पीति की घाटियों और पीर पंजाल और स्पीति की पर्वत श्रृंखलाओं का नजारा भी देख पाओगे।

उसी दिन आप चंद्र ताल शिविर स्थल पर भी जा सकते हैं। पर्टयक रात के लिए वहाँ कैंपिंग लगा सकते हैं तथा यहां कैंपिंग और ट्रेकिंग का भी आनंद ले सकते है।

हम्पटा पास ट्रेक के मार्ग का अंतिम दिन चंद्र ताल से मनाली तक है। हिमचाल में स्तिथ चंद्राताल कैंपसाइट से आप कुख्यात चंद्राताल झील की यात्रा कर सकते हैं, जो नीले रंगों के बीच सबसे गहरी झील है।

अपनी हिमाचल प्रदेश की यात्रा में इस स्थान को अवश्य शामिल करे।

हम्पटा पास ट्रेक हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू में स्तिथ एक लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थान, Hampta Pass Trek A popular and famous place in the district Kullu of Himachal Pradesh