Hidimba__Devi_Temple

हिडिम्बा देवी मंदिर हिमाचल कुल्लू में स्तिथ ऐतिहासिक और धार्मिक स्थान

हिडिम्बा देवी मंदिर हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में मनाली के नजदीक स्तिथ एक विशाल ऐतिहासिक और लोक्रपिय धार्मिक स्थान है। जो देवी हिडिम्बा जी को समर्पित है।

इस ऐतिहासिक मंदिर को स्थानीय भाषा में ढुंगरी मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। इस धार्मिक मंदिर को प्राचीन गुफा मंदिर भी कहा जाता है।

पौराणिक और ऐतिहासिक जानकारी के अनुसार जो हिडिम्बी देवी भीम की पत्नी भारतीय महाकाव्य महाभारत की एक प्रतिमा को समर्पित है। यह बहुत ही लोकप्रिय स्थान माना जाता है।

शांत और प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर मंदिर

मनाली के मॉल रोड से कुछ ही दुरी में स्तिथ होने की बजह से यहां पर्टयकों का आना जाना लगा रहता है। इस मंदिर के साथ और भी बहुत से लोकप्रिय पर्टयक स्थान है।

जो अपनी लोकप्रियता के लिए देश विदेश में जाने जाते है। यहां स्तिथ बहुत से होटल कैफ़े रेस्ट्रोरेंट भी स्तिथ है। जंहा पर्टयक अपनी जरूरत के अनुसार सामान ले सकते है।

यह एक बहुत ही शांत और प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर मंदिर है।

ऐतिहासिक मंदिर का निर्माण 553 ई में महाराजा बहादुर सिंह ने अपने शाशन काल के दौरान करवाया था

देवभूमि कुल्लू में स्तिथ इस ऐतिहासिक मंदिर का निर्माण 553 ई में महाराजा बहादुर सिंह ने अपने शाशन काल के दौरान करवाया था। यह धार्मिक और पौराणिक मंदिर गुफा के चारो और बनाया गया है।

कहा जाता है की इस स्थान में देवी हिडिम्बा ने इस पवित्र स्थान में ध्यान लगाया था। मान्यता है की यहां देवी अपने भाई के साथ यहां रहती थी। देवी को अपने माता पिता के बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

हिडिम्बा ने भीम के विवाह किया और भीम के पुत्र घटोत्कच को जन्म दिया

प्राप्त जानकारी के अनुसार कहा जाता है की महाभारत के अनुसार जब पांडव वनवास के लिए मनाली आये थे। तब उस समय शक्तिशाली भीम ने हिडिम्बा के भाई हडिम्ब को मार दिया था।

उस के बाद हिडिम्बा ने भीम के विवाह किया और भीम के पुत्र घटोत्कच को जन्म दिया था।

नवरात्रो के दौरान यहां श्रदालुओ की भीड़ और भी ज्यादा हो जाती है

हिमाचल प्रदेश के लोकप्रिय पर्टयक स्थान मनाली के निवासी हिडिम्बा को अपनी कुल देवी मानते है और इस देवी की पूरी आस्था और श्रदा के साथ पूजा अर्चना करते है।

नवरात्रो के दौरान यहां श्रदालुओ की भीड़ और भी ज्यादा हो जाती है। देश-विदेश से पर्टयक और श्रदालु यहां दर्शन के लिये आते है। यह स्थान आस्था का एक बहुत ही लोकप्रिय और पवित्र स्थान माना जाता है।

यह स्थान मनाली में स्तिथ सबसे लोकप्रिय पर्टयक स्थानों में से एक माना जाता है।

प्रसिद्ध हिडिम्बा मंदिर पूरी तरह से लकड़ी का बना हुआ है

भारी मात्रा में सैलानी और पर्टयक यहां घूमने और समय व्यतीत करने के लिए आते है। यहां आते है। मनाली में स्तिथ यह लोकप्रिय और प्रसिद्ध हिडिम्बा मंदिर पूरी तरह से लकड़ी का बना हुआ है।

इस मंदिर में भगवान कृष्ण के जीवन के दृश्य चित्रित है। जो यहां आये पर्टयकों को अपनी ओर आकर्षित करते है।

धार्मिक मंदिर के अंदर पत्थर के एक खंड पर खुदी हुई देवी के पैरों की छाप की पूजा की जाती

इस लोकप्रिय और धार्मिक मंदिर के अंदर पत्थर के एक खंड पर खुदी हुई देवी के पैरों की छाप की पूजा की जाती है। जिस को पुजारी द्वारा हर रोज पूजा जाता है।

इस मंदिर क आस पास आप को बहुत से याक मिल जायँगे पर्टयक इन याको के साथ फोटो ले सकते है। साथ ही इन की सवारी भी कर सकते है। जिन्हे गांव के स्थाई निवासी ले के आते है।

मनाली के मॉल रोड से केवल 2 किलोमीटर की दुरी पर स्तिथ

इन याको से निवासियों की थोड़ी बहुत इनकम हो जाती है। इस लोकप्रिय और प्रसिद्ध मंदिर की दुरी यह मनाली के मॉल रोड से केवल 2 किलोमीटर की दुरी पर स्तिथ है।

अपनी हिमाचल प्रदेश की यात्रा के दौरान इस धार्मिक मंदिर की यात्रा अवश्य करे। यहां की यात्रा आप साल के किसी भी समय कर सकते है।

 

हिडिम्बा देवी मंदिर हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू में स्तिथ एक विशाल ऐतिहासिक और लोक्रपिय धार्मिक स्थान, Hidimba Devi Temple A huge historical and popular religious place in district Kullu of Himachal Pradesh