himachal pradesh

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने संसद द्वारा पारित तीनों महत्वपूर्ण कृषि विधेयकों को रविवार को दी स्वीकृति, विपक्ष और किसानो ने किया जमकर विरोध

भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने संसद द्वारा पारित तीनों महत्वपूर्ण कृषि विधेयकों को रविवार को स्वीकृति दे दी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है क इन विधेयकों

का पूरे देश में किसानों द्वारा भारी विरोध हो रहा है। देश के विभिन्न स्थानों में किसान इस का विरोध कर रहे है।

पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों के किसान इसे ‘काला कानून’ बताकर विरोध प्रदर्शन कर रहे

बताया जा रहा है की खासकर पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों के किसान इसे ‘काला कानून’ बताकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी के साथ विपक्ष लगातार केंद्र सरकार पर इस निर्णय को लेकर निशाना साध रहा है।

कॉरपोरेट को फायदा दिलाने की दिशा में उठाया गया कदम बताया जा रहा है इस कानून को

प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार उच्च सदन में केंद्रीय कृषि मंत्री द्वारा चर्चा के लिए लाए गए दो अहम विधेयक, ‘कृषक उपज व्यापार एवं वाणिज्य के साथ (संवर्धन एवं सरलीकरण) विधेयक 2020 और कृषक (सशक्तीकरण व संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर

करार विधेयक 2020’ पर विपक्षी दलों के सांसदों ने विरोध करते हुए दोनों विधेयकों को किसानों के हितों के खिलाफ और कॉरपोरेट को फायदा दिलाने की दिशा में उठाया गया कदम करार दिया था। जिस का विरोध किसान कर रहे है।

कृषि से जुड़े विधेयकों को राज्य सभा में पास करा दिया गया था

कृषि से जुड़े विधेयकों को राज्य सभा में पास करा दिया गया था साथ ही इससे पहले राज्य सभा में चर्चा के दौरान विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया था। जमकर नारेबाजी करते विपक्षी दलों के सांसद उपसभापति के आसन तक पहुंच गए थे।

किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर उस वक्त विपक्ष के सवालों का जवाब दे रहे

इसी के साथ केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर उस वक्त विपक्ष के सवालों का जवाब दे रहे थे। इस हंगामे को बढ़ता देख राज्य सभा की कार्यवाही भी कुछ देर के लिए बाधित कर दी गयी थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करते हुए इसे भारतीय कृषि इतिहास में एक ऐतिहासिक क्षण बताया

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करते हुए इसे भारतीय कृषि इतिहास में एक ऐतिहासिक क्षण बताया है इसी के साथ उन्होंने कहा कि यह (कृषि) विधेयक क्षेत्र में पूर्ण बदलाव सुनिश्चित करेंगे और करोड़ों किसानों को इस के तहत

सशक्त बनाया जाएगा। दशकों तक बिचौलियों द्वारा किसानों को विवश रखा गया और तंग किया जाता रहा है। लेकिन संसद द्वारा पारित विधेयक उन्हें मुक्ति दिलाएगा।

कृषि क्षेत्र को नवीनतम प्रौद्योगिकी की नितांत आवश्यकता (नरेंद्र मोदी )

बताया जा रहा है की इससे किसानों की आय दोगुनी करने के प्रयासों को गति मिलेगी और उनकी ज्यादा समृद्धि सुनिश्चित होगी। साथ ही उन्होंने बताया की इस से देश के किसानो

को बेहद लाभ इस के तहत मिल पायेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र को नवीनतम प्रौद्योगिकी की नितांत आवश्यकता है।

President Ram Nath Kovind on Sunday approved the three important agricultural bills passed by the Parliament, the opposition and farmers strongly opposed