कोरोना से ठीक होने के बाद के साइड इफ़ेक्ट

कोरोना का संकट पूरी दुनिया में बढ़ता जा रहा हैं। इस महामारी के चलते लाखों लोगो को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। पूरी दुनिया के डॉक्टर इस महामारी की वैक्सीन बनाने में लगे हुए हैं लेकिन अभी तक कोई बड़ी सफलता हाथ नहीं लगी हैं। डॉक्टरों द्वारा किये शोध में यह पता चला हैं की कोरोना से ठीक होने के बाद भी लोगो में कुछ लक्षण रहे जाते हैं।

डॉक्टरों ने किया शोध

डॉक्टरों ने इस प्रयोग में 100 लोगों को शामिल किया था। उन 100 लोगों को 2 ग्रुप में बाटा गया। 1 ग्रुप में 32 लोगों को रखा गया था जो गंभीर रूप से बीमार थे और ICU में भर्ती थे। दूसरी और 68 लोगों को दूसरे ग्रुप में रखा गया जो सामान्य बीमारियों के शिकार थे। जनर्ल ऑफ मेडिकल विरोलॉजी (Journal of General Virology) ने इस शोध के नतीजों को प्रकाशित किया हैं। इस शोध के नतीजों में यह पाया गया हैं की ज्यादातर लोगों कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद भी उनमे कुछ लक्षण रहे जाते हैं।

कोरोना से ठीक होने के बाद के लक्षण

तनाव और बेचैनी

जो लोग कोरोना को हराने में कामयाब हुए हैं उनमे तनाव और बेचैनी देखने को मिले हैं जो लम्बे समय तक उनका पीछा करती रहती हैं। उन लोगों के लिए यह सब झेलना बहुत मुश्किल हो जाता हैं। जिसके चलते उनको बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं।

सांस लेने में तकलीफ होना

कोरोना के मरीजों को साँस लेने में बहुत तकलीफ होती हैं और छाती में बहुत दर्द होता हैं। अगर आपको ऐसा कुछ होता हैं तो आपको तुरंत कोरोना का टेस्ट करवाना चाहिए। लेकिन जो लोगों कोरोना से ठीक होकर घर आ गये हैं उनमे यह समस्या देखीं गयी हैं ठीक होने के बाद भी उनको साँस लेने में परेशानी होती हैं।

थकावट

किसी भी बीमारी से उभरने में समय लगता हैं आपको पहले जैसे ताकत और चुस्त होने में समय लगता हैं। जिसके लिए आपको कई हफ्ते या महीने लग जाते हैं। इस किये गए शोध में यह देखने को मिला हैं कोरोना से ठीक का बाद भी लोगों को कमजोरी, थकान और सुस्ती महसूस होती हैं जिससे उभरे के लिए उनको बहुत समय लगा हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *