harshad mehta

Harshad Mehta का शेयर मार्केट का सबसे बड़े फाइनेंशियल स्कैम

शेयर मार्किट के मौजूदा समय में कई ऐसे बड़े नाम थे जिनमे से एक था Harshad Mehta, जिसे स्टॉक मार्केट का बिग बुल कहा जाता था। इसने देश के पहले सबसे बड़े फाइनेंशियल स्कैम किया था।

हर्षद मेहता ने अंजाम प्राप्त जानकारी के जिनके इशारे से शेयर मार्केट ( Share Market ) में उथल मुथल मच जाती है इसी के साथ बताया जाता है की इस बाजार का ‘बच्चन’ तो एक ही हुआ है। कहा जाता है की हर्षद मेहता जैसा कोई ना हो तो ही बेहतर है।

Contents

देश का पहला फाइनेंशियल स्कैम जो करीब 4 हजार करोड़ रुपए का था

इसी के साथ बाजार में उस जैसा कभी कोई ना हो तो ही ठीक माना जाता है, इस हर्षद मेहता ने देश का पहला फाइनेंशियल स्कैम जो करीब 4 हजार करोड़ रुपए का था। इस ने उस को अंजाम दिया था।

इंडियन स्टॉक मार्केट की पूरा नक्शा ही बदलकर रख दिया था

बताया जाता है की इसने इंडियन स्टॉक मार्केट की पूरा नक्शा ही बदलकर रख दिया था। आज उस रियल टाइम विलेन पर, बॉलीवुड के हीरो किरदार निभा रहे हैं। बताया जाता है की 24 घंटे पहले ही 1992 स्कैम की वेब सीरीज ट्रेलर लांच हुआ।

the_big_bull_first_look

अगले कुछ महीनों में ‘बिग बुल’ नाम की फिल्म भी आ रही, मुख्य किरदार अभिषक बच्चन निभा रहे

इस ट्रेलर को बहुत लोगो द्वारा देखा जा चूका है। यह सीरीज हर्षद मेहता पर ही आधारित थी। वहीं अगले कुछ महीनों में ‘बिग बुलÓ नाम की फिल्म भी आ रही है। जो कि हर्षद मेहता से इंस्पायर बताई जा रही है।

इसी के साथ जिसका मुख्य किरदार अभिषक बच्चन निभा रहे हैं। 4 हजार का घोटाला करने वाला अकेला सक्श था हर्षद मेहता जिस के ऊपर वेब सीरीज, ट्रेलर आउट हो चूका है।

हर्षद मेहता का जन्म 29 जुलाई 1954 को पनेल मोटी, राजकोट गुजरात में एक बिजनेसमैन परिवार में हुआ

इस खलनायक हर्षद मेहता का जन्म 29 जुलाई 1954 को पनेल मोटी, राजकोट गुजरात में एक बिजनेसमैन परिवार में हुआ था। बताया जाता है की बचनप में मुंबई आए हर्षद की पढ़ाई मुंबई के होली क्रॉस बेरोन बाजार सेकेंडरी स्कूल से शुरू हुई और लाजपत राय कॉलेज से

बीकॉम करने के साथ खत्म हो गई इसी के साथ इसकी पहली नौकरी न्यू इंडिया एश्योरेंस कंपनी लिमिटेड में सेल्समैन की नौकरी की।

माना जाता है की इसी दौरान उसका मन शेयर बाजार की ओर लग गया था। अपने मन को मारे बिना उसने हरिजीवनदास नेमीदास सिक्योरिटीज ब्रोक्रेज फर्म में ब्रोकर ज्वाइन कर लिया बताया जाता है की उसके बाद उसने प्रसन्न परिजीवनदास को अपना गुरु बनाकर शेयर

1984 में खुद की ग्रो मोर रीसर्स एंड असेट मैनेजमेंट नाम की कंपनी खोली

बाजार के सभी बारीक पैंतरे सीख लिए बताया जाता है की 1984 में खुद की ग्रो मोर रीसर्स एंड असेट मैनेजमेंट नाम की कंपनी खोली और बीएसई में ब्रोकर मेंबरशिप भी हासिल की थी। जिसके बाद हर्षद देखते ही देखते शेयर मार्किट में अपनी पहचान बनाने लगा।

सुप्रीम कोर्ट में 5 साल की सजा और 25,000 रुपए का जुर्माने की सजा सुनाई थी

प्राप्त जानकारी के अनुसार हर्ष मेहता पर 70 से ज्यादा केस चल रहे थे। लेकिन बताया जाता है की उसे कोर्ट में दोषी सिर्फ एक ही केस में ही पाया गया था। जिस पर उस को सुप्रीम कोर्ट में 5 साल की सजा और 25,000 रुपए का जुर्माने की सजा सुनाई गई इसी के साथ बताया जाता है की सजा की मियाद काटने के लिए उसे ठाढ़े जेल में बंद कर दिया गया।

31 दिसंबर 2001 को देर रात छाती में दर्द होने से हुई थी रहस्मयी मौत

31 दिसंबर 2001 को देर रात छाती में दर्द हुआ जिसके बाद उसे ठाणे सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया और व्ही उसकी मौत हो गई। उसकी मौत एक रहस्त बनकर रह गई यह एक ऐसा व्यक्ति था जिसने में पूरे देश को हिलाकर रख दिया था।

Harshad Mehta Bachchan gave the biggest financial scam to the stock market, the web series trailer of 1992 scam was launched 24 hours ago.