backlink

backlink क्या होता है जानिए पूरी जानकारी, किस काम आता है यह

आज हम आप को Backlink क्या है इस के बारे में विस्तार में जानकारी देंगे इस लिए हमारी इस पोस्ट को ध्यान से और पूरा पढ़े, लगभग यह सवाल सभी new bloggers के मन रहता ही ह।

इस लिए आज हुमा प को इस के बारे में पूरी जानकारी देंगे, साथ ही SEO में backlink का क्या importance होता है, इस की जानकारी भी देंगे।

ब्लॉग्गिंग फील्ड में बिलकुल नए तो इसे जरूर पढ़े

जो लोग ब्लॉग्गिंग करते हैं उन्हें तो Backlink के बारे में पता होगा ही लेकिन जो अभी ब्लॉग्गिंग फील्ड में बिलकुल नए नए है उन को शायद अभी इस बारे में इतनी जानकारी नहीं होगी इस लिए आज हम आप को अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस बारे में पूरी जानकारी देंगे।

बैकलिंक SEO का एक बहुत ही इम्पोर्टेन्ट पार्ट माना जाता

यदि Basically अगर में आप को छोटे स्तर पर बताना चाउ तो बैकलिंक SEO का एक बहुत ही इम्पोर्टेन्ट पार्ट माना जाता है, ये मान लीजिये की बिना बैकलिंक के

Google पर पोस्ट को रैंक कराना बहुत ही ज्यादा मुश्किल होता है। बिना गूगल पर रैंक हुए आपको ट्रैफिक तो मिलेगा नहीं इसलिए आप कुल मिलाकर एक ब्लॉगर को

बैकलिंक के बारे में पूरी अच्छे से जानकारी होना बेहद जरूरी है ताकि वो भी अपनी पोस्ट में ट्रैफिक ला सके तथा अपने आर्टिकल को फैला सके जिसमे Backlink का बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान रहता है।

वेबसाइट के home page का link

तो आइये जानते है, आप मान लीजिये मेरी एक A वेबसाइट हैं और आपकी B वेबसाइट है साथ ही आपके वेबसाइट का टॉपिक भी और मेरे वेबसाइट का टॉपिक भी same ही है। अब आपकी B वेबसाइट के किसी पोस्ट पर मेरी A वेबसाइट का कोई पोस्ट या फिर मेरे वेबसाइट के home page का link अगर add होता है,

तो इसका मतलब हुआ की मैंने अपने A वेबसाइट के लिए आपके B वेबसाइट से Backlink लिया है। आप को ज्यादा परेशान होने की जरूरत नह है, बस ध्यान रहे की आप को एक से दूसरे में अपनी पोस्ट का लिंक डालना है।

google से फ्री में ट्रैफिक चाहिए तो क्या करना होगा

आप को यह तो पता लग गया है की Backlink क्या है, लेकिन अब आप के सामने सवाल ये आता है की इसकी जरुरत क्यों है, मुझे अपनी वेबसाइट को किसी दूसरे से लिंक करने की क्या आवश्यकता है,

जैसा की हम सब ये जानते हैं की google से फ्री में ट्रैफिक चाहिए तो अपनी पोस्ट को google में ऊपर लाना पड़ेगा इसी लिए उसके लिए आप को अपनी पोस्ट का seo करना होगा।

google के algorithm में उन्ही पोस्ट को ऊपर दिखाते

साथ ही आपको अपने ब्लॉग की ऑथरिटी गूगल पर बढ़ाने की जरुरत इसलिए पड़ती है, ताकि जिस टॉपिक पर आपने अपनी पोस्ट लिखी है, उसी टॉपिक पर कई सारे पोस्ट already गूगल पर होते हैं,

ऐसी स्थिति में google के algorithm में उन्ही पोस्ट को ऊपर दिखाते हैं, जिनका कंटेंट क्वालिटी बहुत ही अच्छी होती है जो वेबसाइट जितनी अच्छी हो तभी दूसरी क्वालिटी वेबसाइट से Linked होती हैं।

कम्पटीशन वाले पोस्ट को गूगल में टॉप पर रैंककरने में मदद मिलती

साथ ही इसके अलावा जिस वेबसाइट से आपके वेबसाइट को बैकलिंक प्राप्त होता है, आप को वहां से ट्रैफिक भी मिलता है, तथा बहुत से लोग आप की पोस्ट को देखते है।

क्योंकि जो यूजर उस वेबसाइट पर आते हैं वो आपके ब्लॉग के लिंक जो वहां पर add है, उससे आपके ब्लॉग तक भी आ सकते हैं,

साथ ही कुल मिलाकर Backlink बनाने से जहाँ आपके कम्पटीशन वाले पोस्ट को गूगल में टॉप पर रैंककरने में मदद मिलती है, इसी के साथ आप को यहां ट्रैफिक भी मिल जाता है।

पोस्ट की रैंकिंग भी बढ़ जायेगी ऐसा करने से

इसी के साथ आपने किसी भी ऐसे -वैसे वेबसाइट पर जाकर अपने वेबसाइट का लिंक किसी भी तरीके से add कर दिया तो, इस से आपको रैंकिंग में फायदा होगा तथा आप की पोस्ट की रैंकिंग भी बढ़ जायेगी साथ ही गलत वेबसाइट पर या गलत तरीके से बैकलिंक बनाने पर आपके ब्लॉग को google की तरफ से पेनल्टी भी मिल सकती है, इस लिए ध्यान रहे।

जिससे आपके पोस्ट की रैंकिंग डाउन हो जाती है या फिर गूगल आपके ब्लॉग को हटा देता है। साथ ही किस तरीके का बैकलिंक आपको बनाना चाहिए ये जानने के लिए आपको Backlink के प्रकार को आप के लिए समझना बेहद आवश्यक है।

Backlink होते कितने प्रकार के होते हैं आओ जानते है

Backlink 02 प्रकार होते हैं, पहला Dofollow बैकलिंक तथा दूसरा Nofollow बैकलिंक। Dofollow Backlink को समझने से पहले आपको Link juice को समझना पड़ेगा।

यदि जब कोई दूसरी वेबसाइट पर आपकी वेबसाइट का लिंक natural तरीके से add चाहते हो तो उस स्तिथि में उस वेबसाइट का ओनर आपकी वेबसाइट को प्रमोट करना चाहता है, साथ ही वो आपकी वेबसाइट के कंटेंट को वैल्यू देता है तो एक valubale लिंक बनता है।

साथ ही इस term को Link juice कहा जाता हैं। इस टाइप के लिंक से आपको सर्च इंजन यानि google में रैंकिंग में बेहद मदद मिल सकती है।

Dofollow बैकलिंक की पहचान

इसी के साथ अब Dofollow बैकलिंक की पहचान आप कैसे कर सकते हो इस की भी जानकारी हम आप को अपनी इसी पोस्ट में देंगे।

<a href=”yourwebsite.com”>link text </a>

यह एक Nofollow बैकलिंक का एक उद्धहरण है इस से आप समज सकते है की यह लिंक किस प्रकार का है, इसी के साथ Nofollow Backlink मिलने पर किसी भी प्रकार का link juice pass नहीं होता है, साथ ही इस का

मतलब की जिस वेबसाइट से आपकी वेबसाइट का link add हुआ है वो वेबसाइट आपको कोई वैल्यू नहीं दे रही है, साथ ही आप आपने बस अपने वेबसाइट को वहां पर add तो नहीं किया है। लेकिन उस वेबसाइट का owner उसे परमिशन नहीं देता।

पोस्ट को फैलाने के लिए उस में ट्रैफिक की आवश्यकता

इसलिए google में भी आपको Nofollow Backlink से कोई फायदा नहीं होता है जिस से आप अपनी पोस्ट में अधिक से अधिक पोस्ट में ट्रैफिक ला सकते हो आप

को अपनी पोस्ट को फैलाने के लिए उस में ट्रैफिक की आवश्यकता होती ही हैं। जिस से आप की पोस्ट को अधिक से अधिक लोग देख सके।

Backlink बनाया कैसे जाता है

अब आप को साथ ही आप आपने Backlink क्या है यह कितने प्रकार के होते हैं और साथ ही अब आप ने यह भी जान लिया है की इस के क्या लाभ आप को मिल सकते हैं अब हम यह जानेगे, की Backlink बनाया कैसे जाता है।

सबसे पहले तो आप Backlink बनाने से पहले इन बातों का अवश्य ध्यान में रखे जो आप की पोस्ट को फैलाने में आप की बहुत ही मदद करेंगे।

Quality links

सबसे पहले आप जब बैकलिंक बनाते हो तब आप को ध्यान रखन होगा की आपको उस की quality यानि do -follow Backlink ज्यादा बनाने हैं साथ ही आप को अपने niche वाले ब्लॉग से जिनका DA(डोमेन Authority) अच्छा है, जैसे आप

डिजिटल मार्केटिंग और ब्लॉग्गिंग के बारे में लिखते तो आपको उन्ही sites से link लेना है जो आप के इस टॉपिक से रिलेटेड हो और आपको एंकर टेक्स्ट (Anchor text) यानि जिस वेबसाइट पर आप

ब्लॉग के लिंक को किस टेक्स्ट से जोड़ा जा रहा

अपनी वेबसाइट का लिंक add कर रहे हो उसी के साथ वहां से आपके ब्लॉग के लिंक को किस टेक्स्ट से जोड़ा जा रहा है। वो टेक्स्ट होता है इसी के साथ आप को Anchor text और ये एंकर टेक्स्ट भी आपके उस पोस्ट से रिलेटेड होना चाहिए। तभी आप अपनी पोस्ट में इस को अप्लाई कर सकते हो।