can-be-fraud-of-millions

यदि आप भी online UPI payment का इस्तेमाल करते हैं तो हो जाए सतर्क

देश-विदेश में फैले कोरोना काल में डिजिटल लेनदेन बहुत ही बढ़ गया है, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि इस बीच ऑनलाइन लुटेरे भी सक्रिय हो गए है। इसी के साथ ठग लोगों को डिजिटल लेनदेन करते वक्त अपना निशाना बना रहे हैं तथा प्राप्त आंकड़ो के अनुसार उन्होंने अभी तक बहुत से लोगों को अपना शिकार बना लिया है।

यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI)

सबसे ज्यादा धोखाधड़ी यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI), के जरिये लेनदेन में सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि UPI के जरिये आप कैशलेश, रियल टाइम लेनदेन कर सकते हैं।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर ग्राहकों को चेतावनी देते हुए एडवाइजरी जारी

कई बैंक समय-समय पर अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर ग्राहकों को चेतावनी देते हुए एडवाइजरी जारी कर रहे है तथा लोगों को जागरूक कर रहे हैं। साथ ही ऐसे ठगों से बचकर रहने के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए बहुत से कार्य किये जा रहे हैं। इसी के साथ इनसे बचने के लिए आपको क्या करना चाहिए इस की भी जानकारी दी जा रही है।

फिशिंग स्कैम जालसाज SMS के जरिये अनाधिकृत भुगतान लिंक भेजते

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि फिशिंग स्कैम जालसाज SMS के जरिये अनाधिकृत भुगतान लिंक भेजते हैं जिसके बाद नकली बैंक URL आपको असली URL की तरह दिखाई देगा साथ ही यदि आप बिना सोचे समझे जल्दबाजी में उस लिंक पर क्लिक करते हैं।

UPI ऐप से डेबिट हो जाएगी

तो यह आपको आपके फोन पर स्थापित UPI भुगतान ऐप पर जाने के लिए कहेगा जिस के बाद यह आपको ऑटो-डेबिट के लिए किसी भी ऐप का चयन करने के लिए कहेगा उस के बाद आपके अनुमति देने के साथ ही राशि तुरंत UPI ऐप से डेबिट हो जाएगी तथा आप को लाखों का चुना लग जाएगा।

भुगतान ऑनलाइन ही UPI के माध्यम से हो रहा

रिमोट स्क्रीनिंग मिरर टूल से कोरोना के खतरे को देखते हुए ज्यादातर कंपनियां अपने कर्मचारियों को वर्क फॉर्म होम करवा रही हैं, जिस बजह से बहुत से भुगतान ऑनलाइन ही UPI के माध्यम से हो रहा है।

स्क्रीन मिररिंग टूल डाउनलोड

साथ ही ऐसे में बहुत सारे लोग रिमोट स्क्रीन मिररिंग टूल डाउनलोड कर रहे हैं जो स्मार्ट फोन जैसे बड़े डिस्प्ले के लिए आपके फोन या लैपटॉप को वाईफ़ाई के माध्यम से जोड़ सकता है। इस के लिए आपको ध्यान रखना होगा कि आप Google Play या ऐप्पल ऐप स्टोर से कुछ भी डाउनलोड करते समय सतर्क रहें क्योंकि मौजूद सभी डिजिटल पेमेंट ऐप प्रामाणिक नहीं हैं यदि आप ने जरा भी गड़बड़ की तो आप की राशि निकाल ली जायेगी।

UPI ऐप के माध्यम से लेनदेन

ऑनलाइन पेमेंट के लिए OTP, UPI बहुत ही उपयोगी होता है जिस के बिना आप अपनी पेमेंट नहीं कर सकते है। इस लिए आप को इस फ्रॉड से बच के रहना पड़ेगा। जब आप अपने चुने हुए UPI ऐप के माध्यम से लेनदेन करते हैं, तो आपको वन-टाइम पासवर्ड (OTP) या UPI पिन दर्ज करना होगा।

बैंक रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से एक ओटीपी भेजता

साथ ही यदि आप ओटीपी प्रमाणीकरण के लिए आपका बैंक रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से एक ओटीपी भेजता है। साथ ही ओटीपी सत्यापित होने के बाद आपका लेनदेन हो जाता है।

 बैंक प्रतिनिधी बनकर आप को फोन करते हैं जालसाज

इसके बाद UPI handles जालसाज बैंक प्रतिनिधी बनकर आप को फोन करते हैं इसी के साथ सिर्फ UPI सोशल मीडिया पेज (Twitter, Facebook, आदि) में NPCI, BHIM या किसी भी बैंक या सरकारी संगठन के समान प्रामाणिक नहीं बनाता है कोई भी बैंक आप को कॉल कर के आप के खाते की जानकारी नहीं मांगता है।

बैंक SMS के माध्यम से वित्तीय जानकारी नहीं मांगते

आप हमेशा इस बात को याद रखिये कि सरकारी एजेंसियां, बैंक और अन्य वित्तीय संस्थान कभी भी SMS के माध्यम से वित्तीय जानकारी नहीं मांगते हैं, इसी के साथ आपको केवल उन्हीं ऐप्स को डाउनलोड करना चाहिए जो Google Play Store या Apple Store द्वारा प्रामाणिक और सत्यापित हैं हाल ही में फ्रॉड के बहुत से मामले सामने आ रहे हैं।

RBI फ़्रौड से बचने के लिए समय-समय पर चेतवानी जारी करता है

RBI फ़्रौड से बचने के लिए समय-समय पर चेतवानी जारी करता है, इसी के साथ शीर्ष बैंक कहता है, किसी को भी फोन कॉल / ईमेल / एसएमएस / वेब-लिंक पर पर्सनल डिटेल न दें, इस डिटेल से आप को बहुत हानि हो सकती है। इसी के साथ संदेह हो तो अपने बैंक की आधिकारिक वेबसाइट पर ग्राहक सहायता नंबर जांच ले।

If you also use UPI payment online, then be cautious, there can be fraud of millions