christ-church

Christ Church राजधानी शिमला में स्थित एक बेहद लोकप्रिय स्थान

Christ Church हिमाचल प्रदेश की राजधानी में स्थित एक लोकप्रिय और बेहद प्रसिद्ध धार्मिक पर्टयक स्थान है, यह Christ Church उत्तर भारत के सबसे पुराने चर्चों में से एक माना जाता है। जो हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला के रिज मैदान में स्थित है।

इस चर्च की स्थापना 1857 में अंग्रेजों द्वारा इलाके में बड़े एंग्लिकन ब्रिटिश समुदाय की सेवा के लिए बनाया गया था। यह लोकप्रिय और प्रसिद्ध स्थान शिमला घूमने आये पर्टयकों के लिए एक मुख्य आकर्षण का केंद्र है।

दान, भाग्य, विश्वास, आशा, धैर्य और मानवता का प्रतिनिधित्व करती चर्च में लगी खिड़कियां

यह प्रसिद्ध स्थान हिमाचल प्रदेश में स्थित सबसे ज्यादा देखे जाने वाले स्थानो में से एक माना जाता यह चर्च। इस चर्च परिसर के अंदर कांच की खिड़कियां लगी हुई हैं।

जो दान, भाग्य, विश्वास, आशा, धैर्य और मानवता का प्रतिनिधित्व करती हैं। हर साल बहुत से पर्टयक यहां घूमने और समय व्यतीत करने के लिए आते है।

इस धार्मिक स्थान का निर्माण वास्तुकला की नव-गोथिक शैली में किया जाता है

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में स्थित यह भारत के ब्रिटिश शासन के लंबे समय तक चलने वाली विरासतों में से एक है साथ ही शिमला का सबसे लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थान भी है।

इस धार्मिक स्थान का निर्माण वास्तुकला की नव-गोथिक शैली में किया गया है। यदि आप हिमाचल प्रदेश की यात्रा का प्लान बना रहे है तो एक बार इस स्थान की एक बार यात्रा अवश्य करे।

शिमला घूमने आने वाले पर्टयकों को इस धार्मिक चर्च में अपना कुछ समय व्यतीत करना चाहिए यहां आ के आप की आत्मा को बेहद शांति और सकून मिलेगा। इस धार्मिक स्थान में आप अपने आप को ईश्वर के करीब पाओगे।

क्राइस्ट चर्च ब्रिटिश राज की स्थायी विरासतों में से एक मानी जाती

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला का यह Christ Church शिमला शहर के आसपास के कई क्षेत्रों से दिखाई देता है। रिज में स्थित यह क्राइस्ट चर्च ब्रिटिश राज की स्थायी विरासतों में से एक मानी जाती है।

इस खूबसूरत क्राइस्ट चर्च को कर्नल जे टी। बोइल्यू ने 1844 में डिजाइन किया था। इस लोकप्रिय और प्रसिद्ध चर्च की आधारशिला 9 सितंबर 1844 को कलकत्ता के बिशप डैनियल विल्सन द्वारा रखी गई थी।

10 जनवरी 1857 को मद्रास के बिशप थॉमस डेल्ट्रे, बिशप द्वारा चर्च को संरक्षित किया गया था। हिमाचल प्रदेश के जिला शिमला में स्तिथ क्राइस्ट चर्च भारतीय उपमहाद्वीप पर 20 वीं सदी के विभाजन और उसके बाद की राजनीतिक उथल-पुथल से बच गया। यह लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थान सच में बहुत ही मनमोहित का देने वाले स्थानों में एक है।

प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर स्थान

हिमाचल प्रदेश में ऐसे बहुत से लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थान हैं, जो अपने इतिहास के लिए देश विदेश में जाने जाते हैं। इस लोकप्रिय चर्च में आप घूमने और समय व्यतीत करने के लिए कभी भी आ सकते हो।

यदि आप बर्फ प्रेमी हो और यदि आप को बर्फ पसंद है तो आप शिमला की यात्रा सर्दियों के समय में कर सकते हो इस दौरान यहां बर्फबारी होती है और यह स्थान और भी ज्यादा खूबसूरत और आकर्षित हो जाता है तथा आप यहां बर्फ के साथ खेल भी सकते हो।

यहां आने का सही समय और महत्वपूर्ण जानकारी 

इस दौरान आप को शिमला हिल के और भी बहुत से प्रकृति के सौंदर्य देखने को निहार सकते हैं। यदि आप बर्फ प्रेमी हो तो आप को सर्दियों के दौरान (नवंबर से फरवरी) के बीच में आना चाहिए।

इस दौरान आप यहां बर्फ के साथ अपना समय व्यतीत कर सकते हैं । सर्दियों के मौसम के दौरान यहां बहुत सी रोमांचित गतिविधिया आयोजित की जाती है। जिन में भाग लेने के लिए देश विदेश से सैलानी यहां घूमने और समय व्यतीत करने के लिए आते हैं ।