हिमाचल संस्कृति और लोक कला केंद्र मनाली प्रसिद्ध पर्टयक स्थान

हिमाचल संस्कृति और लोक कला केंद्र हिमाचल प्रदेश यह एक बहुत ही लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थान है। जो हिमाचल प्रदेश में सबसे ज्यादा देखे जाने वाले स्थानों में से एक माना जाता है।

यह लोकप्रिय पर्टयक स्थान है। यह लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थान हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू में स्तिथ है, जिसे देवभूमि के नाम से भी जाना जाता है।

यह एक बहुत ही लोकप्रिय और प्रसिद्ध खूबसूरत संग्रहालय है, जहां आप को हिमाचल संस्कृति और लोक कला के क्षेत्र से संबंधित प्राचीन और पारंपरिक विरासत का एक सुंदर संग्रह देखने को मिलता है।

इस संग्रहालय में राज्य की अज्ञात और दुर्लभ प्राचीन वस्तुओं का एक अनूठा और असाधारण संग्रह है।

ऐतिहासिक विलुप्त लेखों को प्रदर्शित करता है यह संग्रहालय

यह संग्रहालय हिमाचल के बहुत से ऐतिहासिक विलुप्त लेखों को प्रदर्शित करता है, जो हिमाचल प्रदेश की भूली हुई संस्कृति, कला और हस्तशिल्प को स्पष्ट रूप से प्रदर्शित करते हैं।

यह मनाली में स्तिथ सबसे लोकप्रिय पर्टयक स्थानों में से एक है। इस संग्रहालय में मंदिरों के पुराने घरों और किलों, पारंपरिक कपड़े, बर्तन, संगीत और अनुष्ठान के उपकरण,

लकड़ी की नक्काशी और विभिन्न अन्य लेखों के मॉडल प्रदर्शित किए गए है। जो इसे बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय और खूबूसरत बनाते है।

प्राचीन कलाकृतियाँ लंबे समय से भूली हुई कला

हिमाचल प्रदेश के लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थान मनाली में स्तिथ यह स्थान बहुत ही लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थान है। जंहा हर साल बहुत से पर्यटक इस स्थान की यात्रा करने और यहां घूमने के लिए आते है।

इस संग्रहालय में हिमाचल प्रदेश के लोगों के प्राचीन जीवन की झलक पाने के लिए सैलानी इस संग्रहालय को एक आदर्श स्थान मानते हैं।

प्रदर्शन पर प्राचीन कलाकृतियाँ लंबे समय से भूली हुई कला, हस्तकला और राज्य की प्राचीन संस्कृति में अंतर्दृष्टि प्रदान करती हैं।

इस लोकप्रिय संग्रहालय में हिमाचली कला और संस्कृति से जुडी और भी बहुत सी वस्तुए राखी गयी है, जो यहां घूमने आये सैलनियो को अपनी और आकर्षित करती है।

इतिहास के शौकीन और इतिहास प्रेमियों के लिए यह एक आदर्श स्थान

हिमाचल का यह प्राचीन संग्रहालय पर्यटकों का अध्ययन करने के लिए ही नहीं बल्कि पर्यटकों और दुनिया भर के शोधकर्ताओं को भी अपनी ओर आकर्षित भी करता है।

इतिहास के शौकीन और इतिहास प्रेमियों के लिए यह एक आदर्श स्थान माना जाता है। हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू के लोकप्रिय स्थान मनाली में स्तिथ यह संग्रहालय एक बहुत ही लोकप्रिय पर्टयन स्थानों में से एक माना जाता है।

प्रसिद्ध हिडिम्बी देवी मंदिर के पास यूटोपिया कॉम्प्लेक्स

यह लोकप्रिय संग्रहालय मनाली बस स्टैंड से केवल 2 किमी की दूरी पर स्तिथ है। मनाली में स्तिथ धार्मिक और प्रसिद्ध हिडिम्बी देवी मंदिर के पास यूटोपिया कॉम्प्लेक्स में हिमाचल संस्कृति और लोक कला का यह संग्रहालय स्तिथ है।

जो आप को बहुत ही रोमांचित करेगा। इसकी स्थापना 1998 में की गयी थी। इस संग्रहालय में खोए हुए समय से हस्तकला का एक सुंदर संग्रह भी है।

यहां आप को हिमाचल की संस्कृति और कला की झलक देखने को मिलती है।

संग्रहालय में पेंटिंग, काष्ठकला, लकड़ी से बने पारंपरिक मुखौटे आदि शामिल

इस संग्रहालय में पेंटिंग, काष्ठकला, लकड़ी से बने पारंपरिक मुखौटे आदि शामिल हैं। इस संग्रहालय में न केवल संस्कृति और कला को बेहतर बनाने में मदद की गयी है

बल्कि हिमाचल की प्राचीन परंपराओं के बारे में भी जागरूकता को बढ़ावा दिया गया है, यहां प्रदर्शित वस्तुओं में हिमाचल प्रदेश के लोगों के जीवन के पारंपरिक तरीके पर प्रकाश डाला गया है।

संग्रहालय की यात्रा करने का सही समय

इस संग्रहालय का प्रवेश शुल्क पर्टयकों के लिए यहां आने का समय समय: सुबह 9 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक का है।

आप इस दौरान कभी भी यहां आ सकते हो तथा इस संग्रहालय का शुल्क 10 रुपये प्रति व्यक्ति निर्धारित किया गया है। जिस से आप इस रोमांचित पर्टयक स्थान की यात्रा क्र सकते हो।