iceland

एक भूतिया आइसलैंड, साल में बस एक बार खुलता यह द्वीप पर्टयकों के लिए

जैसा की आप को पता हैं कि देश विदेश में बहुत से ऐसे कई ऐतिहासिक स्थान हैं जो बहुत ही अद्धभूत और लोकप्रिय माने जाते हैं, साथ ही प्रकृति ने भी अपने आप में बहुत से रहस्य छुपाये हुए हैं जिनके बारे में अभी तक मुनष्य को कुछ भी नहीं पता है यह रहस्य (Mystery) पर्टयक स्थान बेहद खूबसूरत के साथ डरावने भी हैं।

लेकिन आज हम आपको अपनी इस पोस्ट के माधयम से एक ऐसे प्रकृति (Nature) के एक ऐसे द्वीप (Island) के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपने आप में ही एक रहस्य है।

Contents

एक रहस्मयी आइसलैंड

यह आइसलैंड प्रकृति के सुंदरता के साथ साथ बेहद खूबसूरत भी है साथ ही आमतौर पर कई बार बहुत से सैलानी यहां गुमने और समय व्यतीत करने के लिए आते हैं।

लोग छुट्टियां (Holiday) बिताने किसी आइसलैंड यानी द्वीप पर जाना पसंद करते हैं। यह स्थान बहुत ही खूबसूरत है। हम जिस द्वीप के बारे में बताने जा रहे हैं वह ऐसा द्वीप है।

यहां आप साल में बस एक ही बार जा सकते हो

जहां किसी खास मौसम या हर दिन जाने की आपको इजाजत नहीं होती सोचो अगर हम आपको बोले कि एक ऐसा द्वीप है जो ज्यादा तर पानी के अंदर ही रहता है या यह कहूं कि आप यहां बस साल में एक ही बार जा सकते हो तब शायद आप का रिएक्शन भी देखने लायक होगा, इस द्वीप पर लोग साल में सिर्फ एक बार ही जा सकते हैं।

(Eynhallow Island) को लेकर कई तरह की रहस्यमयी कहानियां भी प्रचलित

इस अद्भुत और रहस्मयी द्वीप का नाम आइनहैलो आइसलैंड है यह लोकप्रिय और प्रसिद्ध द्वीप स्कॉटलैंड में स्थित है।साथ ही दिल के आकार का यह द्वीप इतना छोटा है कि इसे नक्शे में ढूंढ पाना भी बेहद ही मुश्किल हैं।

साथ ही आइनहैलो आइसलैंड (Eynhallow Island) को लेकर कई तरह की रहस्यमयी कहानियां भी प्रचलित हैं।यहां के बारे में बहुत सी ऐतिहासिक मान्यताएं हैं, इस द्वीप पर भूत-प्रेत समेत शैतानी ताकतें निवास करती हैं।

जो इस द्वीप में अकेले जाने की कोशिश करता वह लौट के बापस नहीं आता

माना जाता है यह भूतो का अड्डा है, इसी के चलते इस द्वीप में हमेशा जाने की इजाजत नहीं होती है।ये ताकतें इतनी शक्तिशाली हैं कि जो भी अकेले या छोटे समूह में द्वीप पर जाने की कोशिश करता है वो वापस लौटकर कभी नहीं आता, बोला जाता है कि जो अकेला इस द्वीप में जाता है वह बापिस लौट के नहीं आता है।

खासकर ऑर्कने के लोगों में ऐसी मान्यताएं प्रचलित हैं

स्कॉटलैंड में खासकर ऑर्कने के लोगों में ऐसी मान्यताएं प्रचलित हैं कि अगर कोई भी व्यक्ति इस द्वीप में जाने की  कोशिश करता है वो वहीँ पर ही घूम हो जाता है।

प्रोफेसर डेन ली के का कहना है कि इस आइलैंड पर हजारों साल पहले लोगों का बसेरा हुआ करता था

कई लोगो की यह भी मान्यताएं हैं कि यहां की बुरी आत्माएं द्वीप को हवा में गायब कर देती हैं साथ ही इतना ही नहीं ये भी कहा जाता है कि इस द्वीप पर जलपरियां भी रहती हैं ऐसा माना जाता है,जो गर्मी के मौसम में ही पानी से बाहर निकलती हैं।

1851 में यहां प्लेग की बीमारी फैल गयी थी

साथ ही स्कॉटलैंड के हाईलैंड्स विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डेन ली के का कहना है कि इस आइलैंड पर हजारों साल पहले लोगों का बसेरा हुआ करता था। लेकिन साल 1851 में यहां प्लेग की बीमारी फैल गयी थी।जिसकी वजह से यहां रहने वाले लोंगो को यह द्वीप छोड़कर जाना पड़ा था।

पुरातत्वविदों के मुताबिक, खुदाई में यहां पाषाण काल की भी कई दीवारें मिली

अब यह द्वीप बिल्कुल वीरान पड़ा हुआ है।जिसे भूतिया द्वीप बना दिया गया है।यहां कई पुरानी इमारतों के मलबे भी आपको देखने को मिल जाएंगे।

ऐतिहासिक जानकारी के अनुसार तथा पुरातत्वविदों के मुताबिक, खुदाई में यहां पाषाण काल की भी कई दीवारें मिली हैं।यह स्थान एक बहुत ही ऐतिहासिक माना जाएगा।

इसी के साथ आइनहैलो द्वीप कब बना इसकी जानकारी किसी के पास भी नहीं है।साथ ही यह कहा जाता है कि पुरातत्वविदों का ऐसा मानना है कि यह द्वीप शोध करने लायक है।यहां कई प्रकार के शोध किये जा सकते हैं।

चिंत्ता और सोचने पर मजबूर कर देगा यह द्वीप

अगर इस पर शोध किया जाए तो इतिहास के कई ऐसे रहस्य खुल जाएंगे जिनसे अभी तक दुनिया अनजान है। इसी के साथ बताया जा रहा है कि यह रहस्य अन्य लोगो को बहुत ही चिंत्ता और सोचने पर मजबूर कर देगा।

ऑकर्ने द्वीप की एक सोसायटी ने एक कदम उठाया

साथ ही जो लोगों आइनहैलो के प्रति सैलानियों का आकर्षण देखते हुए ऑकर्ने द्वीप की एक सोसायटी ने एक कदम उठाया है। साथ ही वो हर साल गर्मी के मौसम में एक दिन सैलानियों को यहां लेकर आते हैं।

साथ ही इसके लिए लोग पहले पूरी तैयारी करते हैं।मौसम का ध्यान रखते हुए अच्छे तैराक यहां लोगों के साथ चलते हैं।

ऑर्कने आइलैंड से महज 500 मीटर की दूरी पर स्थित

इसी के साथ बताया जाता है कि अगर कोई दुर्घटना हो जाए तो आसानी से लोगों की मदद की जा सके, यह द्वीप एक बहुत ही रहस्य्मय माना जाता है, जब तक इस का निरीक्षण नहीं किया जाता तब तक यह बहुत बड़ी बात रहने वाली है ऑकर्ने द्वीप के लोगों को सचेत रहने के लिए इस दिन के बारे में बता दिया जाता है।आइनहैलो द्वीप ऑर्कने आइलैंड से महज 500 मीटर की दूरी पर स्थित है।

यहां बहने वाली नदियों में इतने ज्यादा ज्वार भाटे आते

इस द्वीप के चारो तरफ का नजारा बहुत ही प्यारा है जो पर्टयकों को बहुत ही रोमांचित करता है। जहां लोग रहते हैं।लेकिन इसके बावजूद आइनहैलो द्वीप पर आना बिल्कुल भी आसान नहीं है, इसी के साथ यहां तक कि नाव के जरिए भी पहुंचना बहुत ही मुश्किल है।

क्योंकि यहां बहने वाली नदियों में इतने ज्यादा ज्वार भाटे आते हैं कि वो रास्ता रोक देते हैं जिस बजह से बेहद परेशानी हो जाती है उसके बाद नौका रास्ता भटक जाती है।तथा लोग यही भटक जाते है।