whatsapp

WhatsApp के मालिक को WhatsApp से कमाई कैसे होती है?

बहुत सारे लोगों को यह पता नहीं है कि WhatsApp के Boss को कोई भी पैसा डायरेक्ट नहीं मिलता है। लेकिन वो तो फिर भी बहुत कमाता है, चलो मैं आज आपको बताता हूँ कि उसको कमाई कैसे होती है ?

WhatsApp का मालिकाना हक़ Facebook के पास

अब जब WhatsApp के मालिक बारे में बात हो रही है तो आप को ये तो पता ही होगा कि Facebook ही WhatsApp का मालिक है। सारे मालिकाना हक़ Facebook के पास हैं।

दरअसल इसका असली founder 24 फ़रवरी 1976 को जन्म जेन कोयुम (Jan Koum) नाम का एक अमेरिकी इंटरनेट उद्यमी और कंप्यूटर इंजीनियर है।

जिन्होंने 19 अरब अमेरिकी डॉलर में फरवरी 2014 में WhatsApp के काफी सारे मालिकाना हक़ Facebook को बेच दिए थे। अब वो सिर्फ वाट्सऐप के सह-संस्थापक है तथा फेसबुक के मैँनेंजिग संस्थापक हैं |

जानते हैं, Facebook को WhatsApp से क्या है फायदा

आप को ये जान कर आश्चर्य होगा कि WhatsApp आज के समय में पूरी दुनिया में आपको लगभग हर स्मार्ट फोन यूजर के मोबाइल में मिल जायेगा, और Facebook के लिए बहुत बड़ी बात है, कियोंकि असली खेल यहीं से शुरू होता है।

हम और आप को तो ये पता होता है कि हम WhatsApp चला रहे हैं, अब आप सोचो इतने सारे बन्दे रख कर इतनी मोटी मोटी salaries दे कर और 19 अरब अमेरिकी डॉलर में WhatsApp को खरीद कर Facebook क्या वेल्हा बैठा रहेगा?

हमारी पर्सनल इनफार्मेशन WhatsApp के पास

जब हमारे फ़ोन में whatsapp है और इंटरनेट है तो हमारी कई पर्सनल इनफार्मेशन whatsapp के पास पहुँच जाती हैं|

मतलब इसकी पैरेंट कंपनी facebook उन इनफार्मेशन का इस्तेमाल कर के आप को आपके जरूरत आपके interests के हिसाब से whatsapp और facebook Advertisements दिखाती है।

WhatsApp-Make-Money

Online Advertisements कैसे काम करती हैं?

ये बहुत interesting होने वाला है, मान लो आप India में हो, और India में आप Delhi से हो और आप के whatsapp में आप के 220 दोस्त हैं, जिनमें से 150 तो Delhi के हैं बाकी 20 Mumbai , 10 Shimla में, 10 Jaipur में, बाकी के Bangalore से हैं।

अब Programming इस तरीके से लिखा जाता है कि वहां से आप के interests को collect किया जाता है, और ये इस आधार पर निकाले जाते हैं कि आप कैसी Posts को like करते हो।

कैसे लोगों को आप friend request भेजते हो या कैसे लोगों कि friend request को accept करते हो। आप ने जिन लोगों को friend request भेजी या जिन कि friend request आप ने accept की उन लोगों के interests क्या हैं।

बस निकल आया data आप ही बताते हो कि आप को Salman Khan पसंद है या Akshay कुमार, आप को राजनीती पसंद है या फ़िल्में।

ये तो आप कि बात हुयी लेकिन ऐसा तो उन्होंने हरेक आदमी से data collect किया है जो whatsapp का use कर रहा है, अब ये डाटा विज्ञापन कराने वाली कंपनी को दिखाया जाता है और उसको बताया जाता है कि हमारे पास इतने लोग हैं |

जो कि इस फलानी चीज़ को पसंद करते हैं उस पर सर्च करते हैं उस पर बात करते हैं। उसी के हिसाब से ऐड का price फिक्स होता है और आप को ही दिखा दिया जाता है। लेकिन Advertisements का मोटा पैसा तो whatsapp यानि इसकी पैरेंट कंपनी facebook को ही मिला ना। लेकिन इस में कुछ भी गलत नहीं है, ये Business है। Google, Yhaoo या बाकि भी ये ही करते हैं।