india gate

भारत का सबसे लोकप्रिय और प्रसिद्ध इंडिया गेट, जानिए इसके बारे में

यदि आप को भी अभी तक भारत के सबसे लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थान जिसे इंडिया गेट के नाम से जानते है, उस के बारे में यह पता है की वो किस ने बनाया था, नहीं तो जानिए हमारे साथ आज हम आप को

बताएंगे की इंडिया गेट किस ने बनाया था, इंडिया गेट सर एडविन लुटियन द्वारा डिजाइन किया गया था। साथ ही यह इंडिया गेट नई दिल्ली, भारत की राजधानी में है जो एक ऐतिहासिक स्मारक है।

प्रथम विश्व युद्ध में वीर जवानो की याद में बनवाया गया था यह स्मारक

ऐतिहासिक जानकारी के अनुसार इसका निर्माण अंग्रेजों ने उन सैनिकों को सम्मानित करने के लिए किया था। जिन्होंने प्रथम विश्व युद्ध के दौरान ब्रिटिश सेना के लिए लड़ते हुए अपने प्राणों का बलिदान दिया था उन सभी वीर जवानो की याद में इस स्मारक को बनवाया गया था।

देश विदेश से पर्टयक इसे देखने के लिए आते है

इसी के साथ स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के समय इंडिया गेट का महत्व बहुत ही बढ़ जाता है क्योंकि ये राष्ट्रीय पर्व हमारे रक्षा बलों के सभी तीनों विंगों की

परेड के साथ इंडिया गेट के पास मनाए जाते हैं जिस को देखने के लिए देश विदेश से पर्टयक यहां पहुंचते है। यह एक बहुत ही आकर्षित स्थान है।

दिल्ली के प्रमुख आकर्षणों में से एक

भारत में स्तिथ यह इंडिया गेट दिल्ली के प्रमुख आकर्षणों में से एक माना जाता है, साथ ही भारत में एक लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण भी है, इस अद्भुत और लोकप्रिय स्मारक के बारे में कई दिलचस्प तथ्य हैं जो शायद ap[ को अभी तक नहीं पता होंगे। जानिए हमारे साथ इन रोमांचित तथ्यों को।

विश्व के सबसे बड़े युद्ध स्मारकों में से एक

भारत में स्तिथ इस राष्ट्रीय स्मारक को राष्ट्रीय स्मारक होने के नाते यह स्थान बहुत ही लोकप्रिय हो गया है, हर साला बहुत से पर्टयक यहां इस अद्भुत गेट को देखने के लिए आते है। इंडिया गेट भी विश्व के सबसे बड़े युद्ध स्मारकों में से एक है।

स्मारक की संरचना 42 मीटर ऊंची

इसी के साथ इंडिया गेट का डिजाइन पेरिस के आर्क डी ट्रायम्फ के समान माना जाता है। संरचना की नींव सर एडविन लुटियन ने रखी थी, ऐतिहासिक जानकारी के अनुसार जो उस समय दिल्ली के मुख्य वास्तुकार हुआ करते थे।

इस स्मारक की संरचना 42 मीटर ऊंची है साथ ही पूरी संरचना संगमरमर में और पढी और चपटी सैंडस्टोन में बनाई गई है जो बहुत ही खूबूसरत है।

ऐतिहासिक जानकारी के अनुसार अमर जवान ज्योति उन हजारों भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि देती है। जिन्होंने 1914-1921 के दौरान युद्ध में शहीद हुए और अपनी जान गंवाई थी।

1921 में इस स्मारक की नींव रखी गयी थी

इस लोकप्रिय और अद्भुत स्मारक बनाने का समय की जानकारी के अनुसार 1921 में इस स्मारक की नींव रखी गई थी, जिसके बाद इस इंडिया गेट के निर्माण को

पूरा करने में लगभग एक दशक लग गया बताया जाता है की फरवरी 1931 को इसका उद्घाटन हुआ था सबसे ख़ास बात इस इंडिया गेट की दीवारो पर उन सभी शहीद सैनिकों के नाम अंकित हैं जो युद्ध में शहीद हुए थे।

भारत के सबसे लोकप्रिय इंडिया गेट और अमर जवान ज्योति दोनों ही हमें भारत अपने देश के सैनिकों की बहादुरी वीर शौर्य के बारे में याद दिलाते हैं। साथ ही ग्रेट जॉर्ज वी की मूर्ति ग्रेट जॉर्ज पंचम की एक मूर्ति थी जो समय भारत के सम्राट थे।

26 जनवरी को राष्ट्रपति भवन से शुरू होते हुए इंडिया गेट से होकर गुजरती

भारत में गणतंत्र दिवस वाले दिन परेड हर साल 26 जनवरी को राष्ट्रपति भवन से शुरू होती है जिसके बाद में यह इंडिया गेट से गुजरती हुई निकलती है।

हालांकि भारत का यह इंडिया गेट एक युद्ध स्मारक है लेकिन आमतौर पर यह अपनी सुंदरता के माध्यम से लोगों को आकर्षित करता है।

जिस बजह से हर साल भरी मात्रा में सैलानी यहां घूमने और समय व्यतीत करने के लिए आते है प्रकृति प्रेमी के लिए भी यह एक बहुत ही अद्भुत स्थान है भारत के इस लोकप्रिय इंडिया गेट के दोनों किनारों पर हरे भरे लॉन इस स्मारक की सुंदरता में चार चाँद लगा देते है।

Who had built India’s most famous and famous monument India Gate, know interesting facts about India Gate