HRTC

अभी नहीं जा सकेंगी दिल्ली हिमाचल प्रदेश पथ परिवहन निगम (HRTC) बसे

भारत की राजधानी दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के लिए हिमाचल प्रदेश पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) बसों की राह रोक दी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों और प्रदूषण की दलील देकर दिल्ली सरकार ने HRTC के प्रस्ताव को फिलहाल खारिज कर दिया है।

Contents

उत्तराखंड के लिए बस सेवा शुरू करने के साथ ही एचआरटीसी ने दिल्ली सरकार से भी मंजूरी मांगी

इसी के साथ पंजाब, हरियाणा और उत्तराखंड के लिए बस सेवा शुरू करने के साथ ही HRTC ने दिल्ली सरकार से भी मंजूरी मांगी थी मगर दिल्ली में बढ़ते कोरोना वायरस की वजह यह निर्णय लिया गया है।

लिहाजा, HRTC दिल्ली सरकार को दोबारा प्रस्ताव भेजेगा

इसी के साथ मौजूदा समय में दिल्ली के लिए बस सेवा शुरू करने की लोगों की भारी मांग की है साथ ही लिहाजा, HRTC दिल्ली सरकार को दोबारा प्रस्ताव भेजेगा इसी के साथ बताया जा रहा है कि HRTC के कार्यकारी निदेशक अनुपम कश्यप ने बताया कि राजधानी दिल्ली के लिए बस सेवा शुरू करने की सभी तैयारियां कर रखी हैं।

प्रदेश के अलग-अलग जिलों से दिल्ली के लिए सीधी बस सेवा शुरू कर दी जाएगी

साथ ही बताया जा रहा है की जैसे ही दिल्ली सरकार मंजूरी देती है, तुरंत वैसे ही हिमाचल प्रदेश के अलग-अलग जिलों से दिल्ली के लिए सीधी बस सेवा शुरू कर दी जाएगी जिस का लाभ प्रदेश की जनता के साथ बहुत से लोगो को लाभ मिल पायेगा।

प्रदेश और बाहरी राज्यों में चलाई जा रहीं निगम की बसों में कंडक्टर रोटेशन में सेवाएं देंगे

इसी के साथ हिमाचल प्रदेश और बाहरी राज्यों में चलाई जा रहीं निगम की बसों में कंडक्टर रोटेशन में सेवाएं देंगे इसी के साथ बताया जा रहा है कि निगम इस तरह की योजना बना रहा है इसी के साथ हिमाचल प्रदेश में निगम के करीब 2800 बस रूट हैं।

प्रदेश में जब तक कंडक्टर भर्ती विवाद नहीं सुलझ रही

इसी के साथ इनमें करीब 1800 रूटों पर बसें चलाई जा रही हैं साथ ही हिमाचल प्रदेश में जब तक कंडक्टर भर्ती विवाद नहीं सुलझ जाता है इसी के साथ तब तक परिचालकों की इसी तरह सेवाएं ली जाएंगी साथ ही परिवहन निगम के बेड़े में 3 हजार बसें हैं।

कंडक्टरों की कमी दूर करने को कमीशन के माध्यम से परीक्षा ली गई

इसी के साथ बताया जा रहा है की इनमें सेवाएं देने के किए निगम को 4,500 परिचालकों की जरूरत है साथ ही HRTC की संयुक्त समन्वय समिति की मानें तो निगम में 1,200 कंडक्टरों की कमी है

इसी के साथ समिति के पदाधिकारी खमेंद्र गुप्ता और राजेंद्र ठाकुर ने बताया कि कंडक्टरों की कमी दूर करने को कमीशन के माध्यम से परीक्षा ली गई थी साथ ही लेकिन पेपर लीक होने से परीक्षा विवादों में आ गई है।

बसों को चलाने के लिए चालकों को रोटेशन पर बाहरी राज्यों में जाने वाली बसों में भेजा जा रहा

साथ ही बताया जा रहा है कि उन्होंने सरकार से अस्थाई व्यवस्था की मांग की है साथ ही परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ने कहा कि मामले की जांच चल रही है इसी के साथ बसों को चलाने के लिए चालकों को रोटेशन पर बाहरी राज्यों में जाने वाली बसों में भेजा जा रहा है जल्द ही अन्य राज्यों में भी बस सेवा शुरू कर दी जायेगी।

राजधानी शिमला में परिवहन निगम में कर्मचारियों की भारी कमी

इसी के साथ हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में परिवहन निगम में कर्मचारियों की भारी कमी है। इसी के साथ चालकों-परिचालकों के अलावा लिपिक स्टाफ भी कम है, प्राप्त जानकारी के अनुसार ऐसे में निगम ने कई कंडक्टरों की सेवाएं दफ्तर में ली हैं साथ ही जरूरत पड़ने पर इनकी फील्ड में सेवाएं ली जाएंगी।