present-in-punjab-assembly

पंजाब विधानसभा में आज पेश होगा कृषि कानून बिल, जमकर हो रहा विरोध

भारत में कृषि कानून के खिलाफ लोगो ने किया प्रदर्शन इसी के साथ पंजाब सरकार ने सोमवार को विधानसभा के विशेष सत्र के पहले दिन केंद्र के 03 कृषि कानूनों के खिलाफ लाया जाने वाला विधेयक को एक दिन के लिए टाल दिया गया था।

इस पर सदन में विपक्षी सदस्यों ने हंगामा किया तथा आम आदमी पार्टी के सदस्यों ने सदन की कार्यवाही स्थगित होने के बाद वेल में धरना दिया तथा जमकर विरोध किया।

Contents

अकाली दल के विधायकों ने भवन के गेट पर धरना देते हुए पंजाब सरकार के खिलाफ जमकर की नारेबाजी

इसी के साथ अकाली दल के सदस्य नारेबाजी करते हुए सदन से निकलकर पंजाब भवन पहुंच गए साथ ही कोरोना के चलते विधानसभा सत्र की एक्सटेंशन बनाया गया है।

पंजाब भवन के भीतर जाने की अनुमति नहीं मिलने पर अकाली दल के विधायकों ने भवन के गेट पर धरना देते हुए पंजाब सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

तीन कृषि कानूनों के खिलाफ बुलाए गए विधानसभा के विशेष सत्र के पहले ही दिन मामूली कामकाज

प्राप्त जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ बुलाए गए विधानसभा के विशेष सत्र के पहले ही दिन मामूली कामकाज ही हुआ था।

सदन की कार्यवाही सुबह 11 बजे शुरू हुई। इसमें दिवंगत शख्सियतों को श्रद्धांजलि दी गई साथ ही करीब 11:15 बजे कार्यवाही दोपहर 12.15 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई, जानकारी के अनुसार इसके बाद सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सरकार की ओर से जानकारी दी गई कि कृषि कानूनों के खिलाफ संबंधित बिल मंगलवार को लाया जाएगा जिस को लेकर कई  लोग बहुत ही विरोध जता रहे हैं।

सोमवार तक भी विधायकों के पास न पहुंचने का मुद्दा उठाया

इस पर विपक्ष की ओर से कहा गया कि यह सत्र कृषि कानूनों के संबंध में बुलाया गया है, इसलिए इसे पहले ही दिन पेश किया जाना चाहिए साथ ही यह भी कहा गया की नेता प्रतिपक्ष और आप विधायक हरपाल सिंह चीमा ने विधानसभा में कृषि कानूनों से संबंधित विधेयक की प्रतियां सोमवार तक भी विधायकों के पास न पहुंचने का मुद्दा उठाया इसी को लेकर कई सवाल उठाये जा रहे हैं।

कार्यवाही अगले दिन मंगलवार सुबह 10 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई

मिली जानकारी के अनुसार इसका जवाब देते हुए वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने कहा कि समय रहते विधेयक की प्रतियां सभी विधायकों तक पहुंच जाएंगी तथा सभी को सूचित भी कर दिया जाएगा, लेकिन विपक्षी सदस्यों ने इस पर एतराज जताया है साथ ही इस पर विशेषाधिकार कमेटी की रिपोर्ट सदन पटल पर रखने के बाद सदन की कार्यवाही अगले दिन मंगलवार सुबह 10 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई साथ ही बताया गया की तय कामकाज के अनुसार, सोमवार को प्रश्नकाल के अलावा विभिन्न बिलों को सदन में पेश कर उन पर बहस होनी थी लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

आम आदमी पार्टी के विधायकों ने वेल में धरना शुरू

साथ ही सदन की कार्यवाही स्थगित होने के बाद आम आदमी पार्टी के विधायकों ने वेल में धरना शुरू कर दिया तथा इसके खिलाफ़ जमकर नारेबाजी करने लग पड़े  इसी के साथ उनकी मांग थी कि कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के हित में पेश किए जाने वाले विधेयक का प्रारूप तो उन्हें तुरंत उपलब्ध कराया जाए।

विधायक अमन अरोड़ा ने सदन के भीतर से ही अपने फेसबुक अकाउंट पर लाइव

इसी के साथ उस पर विचार किया जा सके।साथ ही बताया जा रहा है कि विधायक अमन अरोड़ा ने सदन के भीतर से ही अपने फेसबुक अकाउंट पर लाइव होकर कहा कि इस सत्र से पहले 02 दिन का सेमिनार बुलाया जाना चाहिए था।

अपनी डूबती नैया बचाने के लिए प्रस्ताव पेश किया

इसी के साथ बताया जा रहा है कि इसमें सभी विधायकों के साथ-साथ किसान संगठनों व कृषि विशेषज्ञों को बुलाया जाता है। इसी के साथ कांग्रेस सरकार किसानों को बचाने के लिए कोई प्रस्ताव नहीं ला रही बल्कि अपनी डूबती नैया बचाने के लिए प्रस्ताव पेश किया जाना है इसी के साथ पंजाब भवन पहुंचे अकाली दल के विधायकों ने कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव न पेश किए जाने का कड़ा विरोध किया।

एक महीने में भी प्रस्ताव का प्रारूप तैयार नहीं कर सकी साथ ही इससे साफ है

इसी के साथ इस मौके पर धरने पर बैठे बिक्रम सिंह मजीठिया ने आरोप लगाया कि कैप्टन सरकार इस मामले में केंद्र की मोदी सरकार से मिल गई है और उसके इशारे पर सारा ढोंग किया जा रहा है।

साथ ही सरकार किसानों से धोखा कर रही है इसी के साथ बताया जा रहा है कि वह एक महीने में भी प्रस्ताव का प्रारूप तैयार नहीं कर सकी साथ ही इससे साफ है कि फिक्स मैच खेला जा रहा है साथ ही कैप्टन सरकार आज भी हॉटलाइन पर मोदी सरकार के इशारे का इंतजार करती रही साथ ही उन्होंने कहा कि किसानों के लिए बुलाए गए सत्र के पहले दिन किसान शब्द का जिक्र तक नहीं हुआ है।

एबीवीपी कार्यकर्ताओं की पुलिस से तीखी झड़प हो गई

इसी के साथ जानकारी के अनुसार पंजाब के कथित वजीफा घोटाले की निष्पक्ष जांच की मांग करते हुए विधानसभा के बाहर प्रदर्शन करने जा रहे एबीवीपी (अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद) कार्यकर्ताओं की पुलिस से तीखी झड़प हो गई है।साथ ही पुलिस ने सभी को हिरासत में ले लिया है प्राप्त जानकारी के अनुसार थाने में ले जाकर कुछ देर बाद सभी को छोड़ दिया गया है।

इसी के साथ छात्र नेताओं ने चेतावनी दी कि जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जाएंगी तब तक उनका संघर्ष जारी रहेगा साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं की जायेगी यह संघर्ष ऐसे ही चलता रहेगा।