CHIN BHART

भारत की सीमा पर पहुंचा चीन का सैनिक पहुंचाया जाएगा चीन वापिस

देश में 06 महीने से तनावग्रस्त चल रहे पूर्वी लद्दाख के वास्तिवक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर सेना ने चीन पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जवान को हिरासत में ले लिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि सेना के मुताबिक कारपोरल वांग या लॉग डेमचक इलाके में भटक कर एलएसी पार कर गया इसी के साथ बताया जा रहा है।

पीएलए सैनिक को देख सेना ने उसे कब्जे में लेकर लंबी पूछताछ की

साथ ही भारत की जमीन पर पीएलए सैनिक को देख सेना ने उसे कब्जे में लेकर लंबी पूछताछ की है, सेना ने कहा है कि चीन के साथ तय प्रोटोकॉल के आधार पर सारी औपचारिकताएं पूरी कर वांग को चीनी सेना को सौंप दिया जाएगा।

ऑक्सीजन समेत सभी स्वास्थ्य सुविधाएं दी गईं

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि वांग के पकड़े जाने के बाद उसे ऑक्सीजन समेत सभी स्वास्थ्य सुविधाएं दी गईं है साथ ही ठंड में भटक जाने के बाद उसकी हालत बहुत अच्छी नहीं थी तथा उस की हालत बहुत ही खराब हो गयी थी।

वांग को कपड़े और भोजन देकर उसे सामान्य हालात में लाया गया साथ ही सेना के मुताबिक चीन की तरफ से वांग के खोज में सेना से संपर्क साधा गया है साथ ही औपचारिकताएं पूरी होने के बाद वांग को चुशुल-माल्डो संपर्क स्थान पर उसके इलाके में भेज दिया जाएगा।

भारतीय सेना के गुप्त ठिकानों का पता लगाने के लिए किसी जासूरी प्लॉट का हिस्सा तो नहीं

इस बात की भी तस्दीक की जा रही है कि यह भारतीय सेना के गुप्त ठिकानों का पता लगाने के लिए किसी जासूरी प्लॉट का हिस्सा तो नहीं था तथा यह कोई जासूस तो नहीं है। साथ ही सेना सूत्रों ने कहा कि शुरुआती पूछताछ से लगता है कि वह अकेले भटक गया था।

डेमचक समेत पूरे लद्दाख से गुजरने वाला एलएसी पर सीमा विभाजन की कोई ठोस लकीर नहीं

साथ ही जानकारी के अनुसार दिशा दोष की वजह से एलएसी पार कर भारत की जमीन पर आ गया था, साथ ही डेमचक समेत पूरे लद्दाख से गुजरने वाला एलएसी पर सीमा विभाजन की कोई ठोस लकीर नहीं है।

शायद इसीलिए यह व्यक्ति कहीं गलती से भारत की सिमा पर पहुंच गया था साथ ही भारतीय सेना का कहना है की इस सैनिक को बापिस उस के देश भेज दिया जाएगा।