sainj vaaley

Sainj valley देवभूमि में स्थित एक लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थान,

Sainj valley हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू में स्थित एक प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर लोकप्रिय पर्टयक स्थान है। जो अपनी लोकप्रियता और अपनी प्रकृति की सुंदरता के लिए पूरे हिमाचल प्रदेश में जाना जाता है।

हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू को देवों की भूमि के नाम से भी जाना जाता है। यहां बहुत से लोकप्रिय धार्मिक और लोकप्रिय पर्टयन स्थान है।

जिन में से एक हैं, Sainj valley आज हम आप को इसी Sainj valley के बारे में बताने जा रहे हैं। यह घाटी अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है।

कुल्लू जिले से 45 किलोमीटर की दुरी पर स्थित यह लोकप्रिय स्थान

सैंज घाटी में बहुत से ऐतिहासिक धार्मिक मंदिर स्थित है। यह घाटी कुल्लू जिले से 45 किलोमीटर की दूरी पर एक छिपा हुआ खजाना जैसा है। यह घाटी हिमालय की गोद में छिपी हुई प्राकृतिक सौंदर्य और अद्भुत खूबसूरत दृश्य से भरपूर पर्टयक स्थान है। सैंज घाटी कुल्लू जिले में स्थित ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क की निचली श्रेणियों में स्थित एक बहुत ही खूबूसरत स्थान है।

शांतिपूर्ण, लुभावनी और मन को अवशोषित कर देने वाली घाटी

सैंज घाटी हिमाचल प्रदेश में स्थित सबसे लोकप्रिय खूबसूरत घाटियों में से एक है। यह घाटी हर साल बहुत से पर्टयकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। यह घाटी यहां घूमने आये पर्टयकों और निवासियों को जीवन भर के लिए शांतिपूर्ण, लुभावनी और मन को अवशोषित कर देने वाला वातावरण प्रदान करती है। यह बेहद शांत और सुखदायक स्थान है। इस खूबसूरत घाटी में एक थर्मल पावर प्रोजेक्ट भी स्थित है।

जो प्राकृतिक सुंदरता को अपनी पूर्ण महिमा से संरक्षित करता है। इस विचित्र और लोकप्रिय घाटी में बहुत से छोटे बड़े कई खूबसूरत गाँव भी शामिल हैं।

प्रकृति प्रेमियों के लिए एक आदर्श स्थान

यहां घूमने आये प्रकृति प्रेमियों और सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। यदि आप ताजा और शीतल हवाओं को महसूस करना चाहते हैं। तो यह आप के लिए एक आदर्श स्थान साबित होगा।

जो आप को बेहद रोमांचित करेगा साथ ही यह स्थान आप को प्राकृतिक सौंदर्य के भरपूर बहुत से दृश्य प्रदान करेगा।

अद्भुत कला और संस्कृति की झलक

कुल्लू की यह सैंज घाटी में स्थित स्थानीय निवासियों की परंपराएं और रीति-रिवाज बहुत ही अनोखा और अद्भुत है। आप यहां की कला और संस्कृति आप को देखने को मिल सकती है।

यह एक बहुत ही आकर्षित और खूबूसरत मानी जाती है। जो यहां आये पर्टयकों को बेहद रोमांचित करता है। यहां के स्थानीय लोगों का जीवन बहुत ही शांतिपूर्ण और सामाजिक माना जाता है।

इस घाटी की अपनी बहुत सी कई ऐतिहासिक और महान परम्पराएँ है। जो अभी तक यहां की संस्कृति को बचाए हुए हैं।

बेहद खूबसूरत और ऐतिहासिक परम्पराएँ

इस घाटी में जब भी कोई शादी होती है, तो नवविवाहित दुल्हन को एक ग्रामीण द्वारा अपनाया जाता है। जो एक बहुत ही अद्भुत परम्परा है।

जिसके बाद वे भाई और बहन के बंधन को साझा करते हैं। इस तरह की परंपराएं इस सैंज घाटी को अनोखा और लोकप्रिय बनाती है।

सैंज घाटी की यात्रा करने का सही समय 

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में स्तिथ इस घाटी की यात्रा आप साल के किसी भी महीने कर सकते है। जो आप को बेहद रोमांचित करेगी। यह सुंदर सैंज घाटी जनवरी और फरवरी के महीने में बर्फ से ढके पहाड़ों के कुछ लुभावने दृश्य पेश करती है। तथा इस समय आप को बहुत से अद्भुत दृश्य देखने को मिलेंगे।

इसके साथ ही जो सैलानी मानसून में हिमालय की खोज करना चाहते हैं, तथा जिन को प्रकृति से प्रेम है, उन के लिए यह स्थान किसी स्वर्ग से कम नहीं है। यहां आने का सही समय जुलाई से सितंबर तक का सही माना जाता है।